Saturday, April 4, 2020

चाणक्य की ये 7 बातें अगर आप अपने जीवन में लाते है तो आपको सफल होने से कोई नहीं रोक सकता है

0
Chanakya Neeti

चाणक्य जिसे बुद्धि का देव मानव माना जाता है जिन्होंने कूटनीति से कई राज्यों को जीता जिन्हें सफल होने के वह रहस्य पता थे जिसने एक साधारण से बच्चे चंदू को चंद्रगुप्त मौर्य बना डाला और अखंड भारत का अपना सपना पूरा किया। चाणक्य को समुद्र शास्त्र का प्रचंड ज्ञाता माना जाता है। जो सामने वाले के हाव-भाव एक्शन रिएक्शन को देखकर उसके मन में क्या चल रहा है यह बताने में सक्षम थे। आज उसी प्रकांड चाणक्य के नीतियों से आप लोगो का आमना - सामना करवाऊंगा जो हर विधा में आज भी उतनी कारगर है जो उस काल में थी क्या पॉलीटिकल गवर्नेंस क्या इंटरनेशनल डिप्लोमेसी क्या ऑडिटिंग के तकनीक आज का सब कुछ फेल है उस चाणक्य के नीतियों के सामने। जिन्हें आप समझ गए अपने एक्शन में उसका समावेश किया तो दुनिया की कोई ताकत आपको सफल होने से रोक नहीं सकती। तो दोस्तों जितना हो सके इस ब्लॉग को शेयर करें अपने फेसबुक वॉल ट्विटर वॉल और इंस्टाग्राम व्हाट्सएप पर भी ताकि प्राचीन भारत के इस महान चिंतक रणनीतिकार और कई मंत्रियों के प्रमुख मंत्री चाणक्य की नीतियां देश के हर युवा और हर शख्स तक पहुंच सके और वह सफलता पा सके इस जीवन की कठिन दौड़ में ।
आदमी अपने कर्मों से महान होता है। जन्म से कोई व्यक्ति महान नहीं होता व्यक्ति को अपने कर्म हमेशा अच्छे रखने चाहिए इसे समझना बहुत जरूरी है दोस्तों इसमें कहा गया है दोस्तों अगर आपके पास टैलेंट जन्मजात है तो भी आप उस टैलेंट से महान नहीं बन सकते आपको उस टैलेंट को अपने जीवन में इस्तेमाल करना होगा। अगर आपके साथ आपके पुरखों का नाम जुड़ा है तो उनका नाम उस स्थान तक आपको नहीं पहुंचाएगा अपने टैलेंट का इस्तेमाल करके आपको खुद ही जाना पड़ेगा ।
दूसरों की गलतियों से सीखे। अपनी ही गलतियों से नहीं दूसरों की गलतियों से भी सीखना चाहिए खुद पर प्रयोग करके सीखेंगे तो आयु कम पड़ जाएगी यह बेहद सच है और तार्किक भी है आज के जमाने में आपको दूसरों ने जो गलतियां पुराने समय में की हैं उनसे सीखनी चाहिए और अपने जीवन में फिर वह गलती नहीं दोहराना चाहिए इसीलिए आपका ऑब्जरवेशन अच्छा होना चाहिए भावआवेश में आकर के कोई भी जीवन का फैसला ना लें यह देखें कि इस तरह का कोई दूसरे ने अगर फैसला लिया है तो उसके साथ गलत हुआ था या सही हुआ था एक बार फिर से रिथिंक करें दोस्तों अगर आपको खुद गलतियां कर करके सीखना होगा तो आपका जीवन वाकई में बहुत छोटा हो जाएगा।
अपने हालात को बदलने का भरसक प्रयास करें। व्यक्ति को अपने हालात बदलने का प्रयास करते रहना चाहिए यही आदत व्यक्ति को औरों से अलग बनाती है जो है अगर आप उससे संतुष्ट हैं और आप यह सोचते हैं कि इससे आगे हम नहीं सोच पाएंगे इससे बड़ा हम नहीं कर पाएंगे और आप हरदम एक छोटा गोल बनाते हैं दोस्तों यह आपका गलत माइंडफ्रेम है। आपको हमेशा सतत प्रयास करते रहना चाहिए। जब आप बड़े गोल की तरफ बढ़ते हैं तो आप देखेंगे छोटा गोल अपने आप achieve  होता चला जाएगा। अगर आप ऐसा निरंतर करते रहेंगे तो वह दिन ज्यादा दूर नहीं रहेगा जब आप अपने बड़े गोल पर स्थानांतरित होंगे। पहले ही अपने आप को कम ना आंकिए अपने हालात को बदलने का भरसक प्रयास करते रहना चाहिए। हार तो कभी नहीं माननी चाहिए।
चाणक्य के अनुसार व्यक्ति को हर दम शिक्षा ग्रहण करते रहना चाहिए। शिक्षित व्यक्ति का सदैव सम्मान होता है। आप जिस भी फील्ड में हो जिस भी कैटेगरी में आप सर्विस करते हो या फिर आप पढ़ने वाले स्टूडेंट हों या फिर आप एक बिजनेसमैन हो आपको सदैव शिक्षा की तरफ जाना चाहिए उस फील्ड की जानकारी आपको हमेशा लेती रहनी चाहिए ऐसा करने से जब आप अपने ग्रुप के साथ अपने कोलीग के साथ डिस्कशन करेंगे तो आपके ज्ञान को देखकर आपके शिक्षा को देखकर वह आपका सम्मान करना शुरू कर देगा ना कि यह शिक्षा आपको आपके इस फील्ड में उन्नति दिलाएगी लोगों के दिलों में आपकी एक अलग छवि क्रिएट कर देगी।
भय को अपने से दूर रखो। चाणक्य की नीति के अनुसार भय को अपने पास बिल्कुल नहीं आने देना चाहिए मतलब आपको जिस चीज से भय लगे उस चीज का आपको डटकर सामना करना चाहिए यदि आप एक बार डरे तो आप हर बार डरेंगे जो डर है उसका सामना आप आज से करिए अभी से करिए। भरोसा करिए आपका जिंदगी भर के लिए भाग जाएगा।
किसी भी कार्य को करने से पहले उस पर गहन अध्ययन कर लेना चाहिए। यदि आप कोई फैसला कर रहे हैं कोई कार्य करने जा रहे हैं कोई टास्क आप एग्जीक्यूट करना चाह रहे हैं तो पहले ही उसका पूर्वानुमान लगा लीजिए किसको करने से क्या होगा यदि आप बिना सोचे समझे किसी कार्य में हाथ डालेंगे किसी बिजनेस में हाथ डालेंगे तो आपकी मेहनत भी जाया जाएगी और आपको नुकसान भी उठाना पड़ सकता है। तू पहले ही उसका आकलन एनालिसिस करना उस जमाने से ही चाणक्य ने सिखा दिया था आजकल हमारे युवाओं में आकलन और एनालिसिस कहीं और चला गया है। सब कुछ जो भी हो रहा है वह एक इमोशन के बहाव में हो रहा है जो गलत फैसलों का सबसे बड़ा कारण है।
अतीत के बारे में अधिक ना सोचे। चाणक्य नीति के अनुसार व्यक्ति को अतीत के बारे में अधिक नहीं सोचना चाहिए व्यक्ति को अपने अतीत से सीख कर निरंतर आगे बढ़ते रहना चाहिए जो हुआ सो हुआ। जो हुआ था उस वक्त हुआ था उस समय आप क्या थे क्या कर रहे थे क्यों कर रहे थे उस समय आपकी वह सिचुएशन थी आज की परिस्थितियां अलग हैं और आप भी अलग हैं आप अपने भूतकाल में नाटक कर अपने भविष्य को देखें अपने वर्तमान को जिये। जो गलतियां आपने भूतकाल में की उन गलतियों को अपने भविष्य में ना दोहराएं। दोस्तों जो गलतियां आपने कर दी है उनसे आप को सीख लेनी चाहिए और और अपने भविष्य में उनको अपने साथ लेकर ना चले नहीं तो उसका बोझ आप पर कहीं भारी पड़ेगा।
दोस्तों अगर चाणक्य की इन सातों नीतियों को अपने जीवन में समावेश कर लेते हैं तो ये अटल सत्य हैं कि आपको आज के जमाने में भी सफल होने से कोई नहीं रोक सकता है।


अगर आप कोई सुझाव या किसी भी प्रकार की कोई जानकारी देना चाहते है तो आप हमें मेल (contact@hindimehelppao.com) कर सकते है या Whatsapp  (+919151529999) भी कर सकते हैं| 
Author Image

About Hindi Me Help
दोस्तों यह ब्लॉग मैंने नई-नई जानकारी आपको हिंदी में देने के लिए बनाया है मुझे नई जानकारियां प्राप्त करना और आप लोगों के साथ साझा करना बहुत अच्छा लगता है।

No comments:

Post a Comment

close